लिमिट क्या है
किसी पुर्जे के निर्माण के अंतर्गत उसके बेसिक साइज पर दी गई छूट लिमिट कहलाती है अर्थात कोई कारीगर द्वारा की दी गई छूट के अंतर्गत पुर्जे का निर्माण कर सकता है इस छूट के कारण कारीगर को अपने कार्य में सुविधा प्राप्त होती है

QUESTION
लिमिट कितने प्रकार की होती है
लिमिट दो प्रकार की होती है
नंबर 1. हाई लिमिट
नंबर 2.लोअर लिमिट


QUESTION
हाय लिमिट से क्या अभिप्राय है
किसी पुर्जे के निर्माण के अंतर्गत दी गई ओवर साइज छूट अर्थात धनात्मक छूट हाय लिमिट कहलाती है


QUESTION
हाय लिमिट का एक उदाहरण दीजिए
बेसिक साइज    =40.00MM
हाय लिमिट साइज= 0.03mm.
वास्तविक साइज =40.03mm


QUESTION
लोअर लिमिट से क्या अभिप्राय है
किसी पुर्जे के निर्माण के अंतर्गत दी गई अंडर साइज छूट अर्थात  रीनाआत्मक छूट लो लिमिट कहलाती है


QUESTION
 लो लिमिट का एक उदाहरण दीजिए
बेसिक साइज  =40.00mm.
 लो लिमिट्स साइज   =-0.03mm.
अंततः वास्तविक साइज  =39.97mm.

0 comments:

Post a Comment

Thanks for coments

 
Top